मूत्र में रक्त Blood in Urine

Authored by , Reviewed by Dr Hayley Willacy on

आपके मूत्र में रक्त के मिलने से आमतौर पर आपके मूत्र का रंग लाल या भूरे रंग में परिवर्तित हो जाता है। यद्यपि यह खतरनाक हो सकता है, तथापि ऐसा अक्सर गंभीर स्थिति के कारण नहीं होता है। हालाँकि, यदि आप मूत्र में रक्त को देखते है तो इसके मूल कारण का पता लगाने के लिए आपको डॉक्टर से परामर्श करना महत्वपूर्ण हैं। आपके मूत्र में रक्त कई कारणों से हो उपस्थित हो सकता है, जिसकी चर्चा नीचे की गई हैं।

वैकल्पिक रूप से, कुछ लोगों के मूत्र में रक्त की बहुत कम मात्रा उपस्थित होती हैं जिन्हें देख पाना संभव नहीं होता हैं, लेकिन जब उनके मूत्र के नमूने में डिपस्टिक रखा जाता है, तब रक्त को देख पाना संभव होता है।

आपकी किडनी निरंतर मूत्र का निर्माण करते रहता हैं। किडनी से मूत्र बूंद-बूंद कर मूत्र-नलिका (आपके मूत्रवाहिनी) के माध्यम से निरंतर बहते हुए मूत्राशय तक पहुँचता है। आप जितना खाते- पीते हैं, और आपको जितना पसीना निकलता है, उसके आधार पर आपमें विभिन्न परिमाण में मूत्र का निर्माण होता हैं।

Urinary tract

आपका मूत्राशय मांसपेशियों से मिलकर बना है और यह मूत्र को भंडारित करता है। मूत्र से भरने पर यह एक गुब्बारे के समान फैलता है। मूत्र के आउटलेट (आपके मूत्रमार्ग) को आमतौर पर बंद रखा जाता है। इस कार्य में आपके मूत्राशय के चारों ओर की मांसपेशियों द्वारा मदद की जाती है जो आपके मूत्रमार्ग (श्रोणि सतह की मांसपेशियों) को घेरे रहते हैं और सहयोग करते हैं।

जब आपके मूत्राशय में एक निश्चित मात्रा में मूत्र जमा हो जाता है, तो आप जानते हैं कि आपका मूत्राशय भर गया है। जब आप मूत्र-त्याग करने के लिए शौचालय जाते हैं, तो आपके मूत्राशय की मांसपेशियाँ सिकुड़ (संकुचित हो) जाती है और मूत्रमार्ग और श्रोणि के सतह की मांसपेशियाँ मूत्र को बाहर निकलने की अनुमति देकर आराम की स्थिति में पहुँच जाती है।

जब आपके मूत्र में रक्त का अंश मौजूद होता है, तो उसे सूचित करने के लिए चिकित्सा की भाषा में हीमट्युअरीया (रक्तमेह) शब्द का इस्तेमाल किया जाता है। यह आम तौर पर तब होता है जब आपके मूत्राशय या गुर्दे में कोई समस्या होती है। कुछ लोगों में अन्य लक्षण भी देखने को मिलता हैं जब उनके मूत्र में रक्त मौजूद होता है, जबकि अन्य लोग बिना अन्य लक्षणों के साथ पूरी तरह से स्वस्थ महसूस करते हैं।

मूत्र में रक्त के मिलने के अनेक अलग-अलग कारण हैं। रक्त आपके किडनी या आपके मूत्र मार्ग के किसी भी क्षेत्र - उदाहरण के लिए, आपके मूत्राशय, मूत्रमार्ग या मूत्रमार्ग से आ सकता है।

कभी-कभी महिलाओं के लिए यह जानना कठिन हो सकता है कि रक्त कहाँ से आ रहा है। एक मासिक धर्म चक्र या योनि से दूसरे कारण से मूत्र में रक्त के मौजूद होने का कारण बन सकता है।

मूत्र मार्ग का संक्रमण

आपके मूत्र में रक्त का सबसे आम कारण मूत्र का संक्रमित होना है, खासकर महिलाओं में। मूत्र संक्रमण के कारण आपका मूत्राशय (मूत्राशय शोथ) सूज जाता है। इसके सबसे सामान्य लक्षण मूत्र-त्याग करते समय दर्द होना और सामान्य से अधिक बार मूत्र-त्याग करना हैं। आपको अपने निचले पेट में दर्द और उच्च तापमान (बुखार) भी हो सकता है। आपके मूत्राशय में होने वाली इस सूजन के परिणामस्वरूप आपके मूत्र में रक्त आ सकता है।

आमतौर पर मूत्र-मार्ग के संक्रमण का उपचार बहुत प्रभावी ढंग से एंटीबायोटिक दवाओं का एक छोटा कोर्स लेकर किया जा सकता हैं। यदि आपको निम्नलिखित में से कोई भी लक्षण दिखाई देता है, तो आगे और परीक्षण करवाना आवश्यक हो सकता है:

अधिक जानकारी के लिए  Cystitis (Urine Infection) in Women (महिलाओं में सिस्टिटिस (मूत्र संक्रमण)), Urinary Infection in Men (पुरुषों में मूत्र संक्रमण), Urine Infection in Older People (वृद्ध लोगों में मूत्र संक्रमण), Urine Infection in Pregnancy (गर्भावस्था में मूत्र संक्रमण) और Urine Infection in Children (बच्चों में मूत्र संक्रमण) नामक अलग पत्रक देखें।

किडनी का संक्रमण

किडनी संक्रमण (जिसे पीयेलोफोर्टिस भी कहा जाता है) आमतौर पर मूत्राशय के संक्रमण की जटिलता का संकेत करता हैं। आमतौर पर मूत्र-मार्ग के संक्रमण के साथ किडनी संक्रमण का लक्षण अधिक गंभीर होता हैं। अक्सर आपके पेट (उदर) या आपकी पीठ के किनारे के हिस्से में बहुत ही उच्च तापमान (बुखार) और दर्द हो सकता है।

किडनी संक्रमण का उपचार लंबे समय तक एंटीबायोटिक दवाओं लेकर किया जाता है। यदि संक्रमण की प्रकृति अधिक गंभीर होती है तो अस्पताल में एंटीबायोटिक दवाओं को सीधे नस में दिया जाना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए See separate leaflet called Kidney Infection (Pyelonephritis) (किडनी संक्रमण (पाइलोनफ्राइटिस) नामक एक अलग पत्रिका देखें।)

यूरेथराइटिस (मूत्रमार्गशोथ)

यह आपके शरीर (मूत्रमार्ग) से मूत्र निकालने वाली नलिका में सूजन को सूचित करता है। यूरेथराइटिस अक्सर sexually transmitted infection (यौन संचारित संक्रमण) के कारण होता है जिसका उपचार आसानी से एंटीबायोटिक दवाओं से किया जा सकता है।

गुर्दे की पथरी (किडनी स्टोन)

आपके मूत्र-मार्ग में रक्त स्राव हो सकता है जब आपके मूत्र-मार्ग से पत्थर बाहर निकलते समय यह आपके मूत्रमार्ग के आंतरिक दीवारों से घर्षण करता है। ऐसा होने पर आपके पीठ और पेट में दर्द श्रोणि की ओर दर्द हो सकता है। गुर्दे की पथरी वाले कुछ लोगों के मूत्र में केवल रक्त हो सकता हैं, जिसकी जाँच एक डीपस्टिक टेस्ट द्वारा की जा सकती है।

हालाँकि कुछ लोगों में गुर्दे के पत्थरों को निकालने के लिए किसी भी उपचार की आवश्यकता नहीं होती है क्योंकि वे स्वयं ही बाहर निकल जाते हैं, जबकि कुछ लोगों में गुर्दे के पत्थरों को हटाने के लिए विशिष्ट उपचार की आवश्यकता होती है। अधिक जानकारी के लिए See separate leaflet called Kidney Stones (किडनी स्टोन्स नामक अलग पत्रक देखें।)

मूत्राशय या गुर्दे में ट्यूमर

Bladder cancer (मूत्राशय के कैंसर) या kidney cancer (किडनी के कैंसर) का सबसे आरंभिक संकेत मूत्र में रक्त की उपस्थिति है, आमतौर पर यह बिना किसी अन्य लक्षण के होता है। हालाँकि, जिन लोगों के मूत्र में रक्त होता है, उनमें से अधिकांश लोग कैंसर से पीड़ित नहीं होते है।

पहले की तुलना में मूत्राशय और गुर्दे के कैंसर से पीड़ित लोगों के उपचार की संभावना कही अधिक बेहतर है। इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि कुछ लोगों के मूत्राशय के कैंसर की जाँच करने के लिए उनके मूत्र की जाँच की जाएँ, यदि उनके मूत्र में रक्त का अंश पाया जाता है। उदाहरण के लिए, यदि 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति के मूत्र में बिना किसी संक्रमण के रक्त का अंश पाएं जाने पर उसे परीक्षण के लिए भेजा जा सकता हैं। इसमें एक अल्ट्रासाउंड स्कैन या एक अन्य प्रक्रिया शामिल हो सकती है जहाँ एक छोटी पतली टेलिस्कोप को व्यक्ति के मूत्राशय (एक सिस्टोस्कोपी) में डाला जाता है।

किडनी में सूजन

ऐसी विभिन्न स्थितियाँ हैं जो आपके किडनी में सूजन उत्पन्न कर सकती हैं। इसके कारण तब आपके मूत्र में रक्त मौजूद हो सकता हैं, जो आमतौर पर केवल तब पाया जाता है जब आपके मूत्र का एक डिप्स्टिक परीक्षण किया जाता है। गुर्दे की सूजन को ग्लोमेरुलोनफ्रिटिस कहा जाता है। कभी-कभी अन्य लक्षणों जैसे कि थकान और आपकी आंखों और पैरों के आसपास सूजन को भी देखा जा सकता है।

सूजन के परिणामस्वरूप आप ग्लोमेरुलोनेफ्राइटिस (स्तवकवृक्कशोथ) से पीड़ित हो सकते है जो आमतौर पर आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली के साथ एक समस्या के कारण उत्पन्न होता है। यह कभी-कभी संक्रमण के कारण शुरू हो सकता है। बच्चों और युवा वयस्कों के मूत्र में रक्त की उपस्थिति का सबसे सामान्य कारण ग्लोमेरुलोनेफ्राइटिस (स्तवकवृक्कशोथ) है। हालाँकि, यह किसी भी उम्र के लोगों को हो सकता है। अधिक जानकारी के लिए See separate leaflet called Glomerulonephritis (ग्लोमेरुलोनेफ्राइटिस नामक अलग पत्रक देखें।)

रक्तस्राव की बीमारी

कुछ ऐसी स्थितियाँ हैं जो आपके शरीर में रक्त का थक्का जमने के में बाधा उत्पन्न कर सकती हैं। इसका एक उदाहरण हीमोफिलिया है। यह आपके मूत्र में रक्त की मौजूदगी का असामान्य लेकिन महत्वपूर्ण कारण है। यदि आप रक्त को पतला करने की दवा ले रहे हैं (उदाहरण के लिए, warfarin (वार्फरिन)), और यदि आप अपने मूत्र में रक्त का अंश दिखाई देता है तो आपके रक्त की तुरंत जाँच करवाना महत्वपूर्ण हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि वार्फरिन की आपकी खुराक बहुत अधिक हो सकती है।

वहाँ अन्य अधिक असामान्य स्थितियाँ भी है जिसके कारण आपके मूत्र में रक्त मौजूद हो सकता है। इसमें sickle cell disease (सिकल सेल रोग), आपके मूत्र मार्ग में चोट और polycystic kidney disease (पॉलीसिस्टिक किडनी रोग) शामिल हैं।

नोट: कुछ लोगों का मूत्र लाल हो जाता हैं, लेकिन वास्तव में उनके मूत्र में रक्त मौजूद नहीं होता है। चुकंदर खाने से और कुछ दवाएं लेने से, उदाहरण के लिए एंटीबायोटिक rifampicin (राइफैम्पिसिन)कुछ लोगों का मूत्र लाल हो सकता है।

आपके लिए आवशयक जाँच आमतौर पर अनेक अलग-अलग कारकों पर निर्भर करता है, जैसे कि आपमें अन्य लक्षण दिखाई देता हैं, यदि आपके पास कोई अन्य बीमारी या स्थिति है और आपकी उम्र कितनी है।

आपको मूत्र का नमूना देने की अपेक्षा की जाएगी जिसे संक्रमण की जाँच के लिए स्थानीय प्रयोगशाला को भेजा जाएगा। आपको एक रक्त परीक्षण और एक्स-रे या स्कैन भी करवाना पड़ सकता हैं।

आपके मूत्राशय की स्थिति का निर्धारण करने के लिए एक सिस्टोस्कोपी किया जा सकता है। सिस्टोस्कोपी की प्रक्रिया के दौरान डॉक्टर या नर्स एक विशेष पतली टेलिस्कोप, जिसे सिस्टोस्कोप कहा जाता है, का उपयोग कर आपके मूत्राशय में देखते हैं। आपके मूत्र (मूत्रवाहिनी) के लिए आपके आउटलेट के माध्यम से सिस्टोस्कोप को आपके मूत्राशय में प्रविष्ट कराया जाता है। आपके मूत्राशय में देखने के लिए की जाने वाली सिस्टोस्कोपी अक्सर स्थानीय संवेदनाहारी देकर किया जाता है।

अलग-अलग स्थितियों में किए जाने वाले विभिन्न परीक्षणों के बारे में और अधिक विवरण अलग-अलग पत्रक में पाया जा सकता है।

उपचार स्पष्ट रूप से आपके मूत्र में रक्त की उपस्थिति के लिए जिम्मेदार अंतर्निहित कारणों पर निर्भर करता हैं। आपके मूत्र में रक्त की उपस्थिति के बारे में अधिक जानकारी विभिन्न विशिष्ट पत्रकों में पाई जा सकती है।

यदि कोई कारण नहीं पाया जाता है, तो आपको अभी भी अपने जीपी को रक्त-स्राव के बारे में सूचित करना चाहिए, जो आपको अधिक परीक्षण करवाने की अनुशंसा कर सकते हैं। आपको अपने मूत्र में रक्त के अंश की अनदेखी नहीं करनी चाहिए, भले ही आपके पहले का परीक्षण सामान्य रहा हो।

अस्वीकरण: यह चिकित्सकों द्वारा समीक्षा किये गए मूल अंग्रेजी लेख का अनुवाद है। हमने सभी लोगों कि जानकारी के लिए जितना संभव हो उतना हमारे लेखों का अनुवाद किया है। तथापि, अनुवाद में कुछ गलतियाँ हो सकती हैं। इस कारण से हम सटीकता, विश्वसनीयता या समय अनिश्चितता की गारंटी नहीं दे सकते। यदि मूल अंग्रेजी लेख और अनुवाद के बीच कोई विरोधाभास है, तो मूल अंग्रेज़ी संस्करण हमेशा प्रबल माना जाएगा । इस आलेख को अंग्रेजी में पढ़ेढ़े

****hi I am looking to hear from people that have tried bladder tens machine, or anything else that helps with the erge to want to wee more , I am 58, thank you

mrs_susan74280
Health Tools

Feeling unwell?

Assess your symptoms online with our free symptom checker.

Start symptom checker
Listen